Foreign Reserve of India: 4 महीना में सबसे ज्यादा पहुंचा, 6 अरब डॉलर के पार

Foreign Reserve of India

Foreign Reserve of India: Foreign Portfolio Investors के द्वारा india के मार्केट में लगातार निवेश कर रहे हैं। जिसके वजह से हमारा जो Foreign Reserve है वह बढ़ता जा रहा है, जी हां इसकी वजह से पॉजिटिव रिस्पांस हमें दिख रहा है जहां पर 6 अरब डॉलर के पार पहुंच चुका है हमारा फॉरेन रिजर्व।

और जहां वर्ल्ड में हाई इन्फ्लेशन देखने को मिल रहा है उस हो यूके हो या अदर यूरोप की कंट्री इंडिया से ज्यादा इन्फ्लेशन देखने को मिल रहा है और इसी के वजह से जो इन्वेस्टर है इंडिया में लगातार इन्वेस्ट किया जा रहे हैं और इसके वजह से हमारा फॉरेन रिजर्व लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

Foreign Reserve of India: कुछ दिन पहले ही यानी 15 Dec को अपने नोटिस किया होगा। कि डॉलर के तुलना में हमारी इंडियन रुपया थोड़ी strong दिखाई दिया है। बताया जा रहा है कि काफी समय के बाद 33 पैसे से बढ़कर 88 पैसे तक पहुंच गई है इंडियन rupee और यह तीन महीना में सबसे हाईएस्ट बताया जा रहा है। यह भी मैं आपके साथ बताना चाहूंगी कि कुछ दिनों में आप यह भी नोटिस करोगे इंडियन शेयर बाजार लगातार तेजी से भागता जा रहा है। जी हां कुछ दिन पहले ही एक ही दिन में हमारा शेयर बाजार का value वैल्यू था 4 ट्रिलियन डॉलर क्रॉस कर चुका था। अभी नोटिस करोगे कि एक मंथ में ना शेयर बाजार हर दिन नया-नया रिकॉर्ड बना रहा है जी हां और इसके वजह से जो इन्वेस्टर है वह लगातार निवेश करते ही जा रहे हैं। पीछले सप्ताह ही Foreign Reserve of India का 2.8 अरब डॉलर से उछाल हमे देखने को मिला था।

JOIN

Table of Contents

पिछले सप्ताह ही भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया यानी आरबीआई के द्वारा बताया गया था उनके आंकड़ों के अनुसार पीछले सप्ताह ही Foreign Reserve of India का 2.8 अरब डॉलर से उछाल हमे देखने को मिला था। आप यह भी नोटिस करोगे इंडियन शेयर बाजार लगातार तेजी से भागता जा रहा है जी हां कुछ दिन पहले ही एक ही दिन में हमारा शेयर बाजार का value वैल्यू था 4 ट्रिलियन डॉलर क्रॉस कर चुका था। अभी नोटिस करोगे कि एक मंथ में ना शेयर बाजार हर दिन नया-नया रिकॉर्ड बना रहा है जी हां और इसके वजह से जो इन्वेस्टर है वह लगातार निवेश करते ही जा रहे हैं। स्टॉक मार्केट में लगातार तेजी से परिवर्तन हो रहा है।

जिसके वजह से जो डॉलर है इंडिया में लगातार बढ़ते जा रहा है और इसी का अच्छा पॉइंट बोल सकते हो कि हमारा जो फॉरेन रिजर्व है 606.859 अरब डॉलर पहुंच गया है। जो कि एक अच्छा साइन माना जा रहा है। क्योंकि चार महीना का सबसे हाईएस्ट उछाल देखा गया है। पिछले सप्ताह ही इंडिया का फॉरेन रिजर्व 6.11 अरब डालर था अब बढ़कर 606.859 अरब डॉलर पहुंच गया है। वही पर अक्टूबर 2021 के डाटा की हम बात करें तो हमारे देश की फॉरेन करंसी 645 अरब डालर था। उसे टाइम का सबसे हाईएस्ट माना जा रहा था बट चार महीना के बाद अभी सबसे हाईएस्ट देखा गया है।

READ MORE: Hindi में 7 Best Small Business Ideas for Teens In 2024

एफसीए के आंकड़ों की बात करें तो इसमें भी 3.09 अरब डॉलर की बद्तरी देखने को मिली है। जी हां अक्टूबर 2021 के डाटा की हम बात करें तो हमारे देश की फॉरेन करंसी 645 अरब डालर था। उसे टाइम का सबसे हाईएस्ट माना जा रहा था उसके बाद से बोल सकते हो जो हमारी फॉरेन रिजर्व है वह लगातार गिरते ही जा रही थी अब हमें चार महीना के बाद सबसे हाईएस्ट हमें देखने को मिला है जिसके वजह से एफसीए के आंकड़ों में भी बढ़ोतरी हमें देखने को मिला है। वहीं पर भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया यानी आरबीआई के द्वारा रिपोर्ट पब्लिश किया गया जहां पर बताया जा रहा है जिसके वजह से हमारी जो फॉरेन करंसी एसेट है उसमें भी बढ़ोतरी हमें देखने को मिल रहा है।

Foreign Reserve of India में हमारे Foreign Currency Asset जैसे कि gold हो, Bond में हो, या तो dollar के रूप में हो इनका बहुत बड़ा रोल होता है। यह भी बोल सकते हो कि अपने देश को चलाने के लिए यह एसिड बहुत बड़ा योगदान देता है यदि हमें इन्फ्लेशन से फेस करना है तो यह हमें इन्फ्लेशन से बचने के लिए बहुत बड़ा अपना योगदान देता है और कहीं ना कहीं जो हमारे फॉरेन रिजर्व बढ़ रहे हैं उसके वजह से इन्फ्लेशन से हमें थोड़ा सा राहत मिल सकता है लेकिन हम गोल्ड की अभी बात कर रहे हैं तो हमें सोने में भी थोड़ी सी गिरावट देखने को मिला है 8 दिसंबर के आंकड़ों की हम बात करें तो हमारे देश के विदेशी मुद्रा में गोल्ड की थोड़ी सी गिरावट देखी गई है जहां पर बताया जा रहा है कि 199 मिलियन डॉलर की गिरावट देखी जा रही है।

Foreign Reserve of India: हां सही पढ़ रहे हो कि आईएमएफ के एसेट की भारी कमी हमें देखने को मिल रही हमारे पूरा रिजर्व में यह मैं नहीं बोल रही हूं आरबीआई द्वारा बताया गया आंकड़ों के अनुसार देखा जा रहा है कि फॉरेन रिजर्व में आईएमएफ की रिजर्व में 11 मिलियन डॉलर की गिरावट देखी गई है। लेकिन Foreign Portfolio Investors के द्वारा india के मार्केट में लगातार निवेश कर रहे हैं। जिसके वजह से हमारा जो Foreign Reserve है वह बढ़ता जा रहा है, जी हां इसकी वजह से पॉजिटिव रिस्पांस हमें दिख रहा है जहां पर 6 अरब डॉलर के पार पहुंच चुका है हमारा फॉरेन रिजर्व। और जहां वर्ल्ड में हाई इन्फ्लेशन देखने को मिल रहा है उस हो यूके हो या अदर यूरोप की कंट्री इंडिया से ज्यादा इन्फ्लेशन देखने को मिल रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top