Rs 2000 Notes Withdrawal Impact: 2000 नोट बंद करने के बाद RBI ने दी बड़ी बयान

Rs 2000 Notes Withdrawal Impact 2000 नोट बंद करने के बाद RBI ने दी बड़ी बयान

Rs 2000 Notes Withdrawal Impact: पिछले साल ही यानी 19 में 2023 को आरबीआई के द्वारा 2000 नोट को लेकर एक बड़ा कदम लिया गया था। जहां पर बताया गया था कि जितने भी 2000 के नोट है मार्केट में 7 अक्टूबर तक वापस ले लिया जाएगा। इसके बाद आज ही आरबीआई के द्वारा 2000 नोट को लेकर बड़ा बयान दिया गया है जिस चीज को लेकर हम इस आर्टिकल के अंदर डिटेल से डिस्कस करने वाले हैं।

Rs 2000 Notes Withdrawal Impact: वैसे देखा जाए तो आरबीआई ने कहा कि (Rs 2000 Notes Withdrawal Impact) उस समय सर्कुलेशन में ₹2000 बैंकों में मौजूद इसका वैल्यू लगभग 3.56 लाख करोड़ रुपये था। वैसे आपको यदि है 2016 में भारत सरकार के द्वारा नोटबंदी को लाया गया था जहां पर पुराने 500 और 1000 नोट को बन कर दिया गया था। उसके बाद इस सरकार के द्वारा नए नोटों को लाया गया था जिसमें से एक ₹2000 के नोट थे और अब 2023 में ही भारत सरकार के द्वारा इसको बंद कर लिया गया है, यानी कि 30 सितंबर को आरबीआई के द्वारा 2000 के नोट को वापस लेने के लिए डिसीजन लिया गया था और मीडिया के साथ लोगों को बताया गया था। उसके बाद ही इसका डेट आगे बढ़कर 7 अक्टूबर तक कर दिया गया था। और अभी तक मार्केट से 2000 के नोट को वापस लेने का काम कर रही है। वैसे बताया जाए भारत में 19 आरबीआई के ऐसे ऑफिसियल ऑफिस से जहां के माध्यम से आप अपने 2000 के नोट को एक्सचेंज या जमा कर सकते हो। फिर आरबीआई के द्वारा यह भी कहा कि पोस्ट ऑफिस के माध्यम से भी आप 2000 के नोट को एक्सचेंज या जमा कर सकते हो।

7th Pay Commission Latest News 2024 | केंद्र कर्मचारियों को मार्च में लगेगी लॉटरी, DA Hike 4% तक

Rs 2000 Notes Withdrawal Impact

JOIN

Rs 2000 Notes Withdrawal Impact: इसको लेकर आरबीआई के द्वारा बयान आया है कि उस समय सर्कुलेशन में ₹2000 बैंकों में मौजूद इसका वैल्यू लगभग 3.56 लाख करोड़ रुपये था। जब आरबीआई के द्वारा अचानक से 19 में 2023 को 2000 नोट को लेकर बैंक नोटों को सर्कुलेशन वापस लेने के लिए घोषणा की थी। इसके अलावा आरबीआई ने बताया कि 2000 नोट को बैंकों के नोटो सर्कुलेशन से हटाने के बाद इसका असर दिखने लगा है। इनके द्वारा जारी किए गए आंकड़ों की बात करें तो हम बताया जा रहा है कि 9 फरवरी तक सर्कुलेशन में मौजूद करेंसी (Currency-in- circulation or CiC) पहले सप्ताह में ही 1 साल का ग्रोथ 8.7% से घटकर 3.7% हो गया है। सर्कुलेशन में मौजूद करेंसी (Currency-in- circulation or CiC) को सिंपल भाषा में समझने की कोशिश करें तो बैंक के पास जितना जमा राशि है खत्म होने के बावजूद भी सर्कुलेशन में मौजूद पैसे बच जाती है जैसे कि सिक्का और नोट , बाद में जिसको आप कस्टमर और बिजनेस के लिए ट्रांजैक्शन कर सकते हो। यानी कि बैंकों के सर्कुलेशन में मौजूद करेंसी (Currency-in- circulation or CiC) की बात करें तो सिक्का और नोट।

Rs 2000 Notes Withdrawal Impact: वहीं पर आरबीआई के दिए गए आंकड़ों के अनुसार यह भी बोल सकते हो कि जो Commercial bank है उनके पास जनवरी में जमा राशि में वृद्धि हुआ है। 9 फरवरी तक सर्कुलेशन में मौजूद करेंसी (Currency-in- circulation or CiC) पहले सप्ताह में ही 1 साल का ग्रोथ 8.7% से घटकर 3.7% हो गया है। और इसी वजह से आरबीआई का कहना है इसलिए हमने 2000 के नोट को हटाया है। वहीं पर आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार 9 फरवरी 2024 को रिजर्व मनी के ग्रंथ में पहले 1 साल में 11.2 परसेंट से घटकर 5.8% हो गई है। अब आपको समझ में आ गया होगा कि आरबीआई के द्वारा क्यों 2000 के नोट को बैंकों से हटाया गया जिसका रिजल्ट अभी आपके सामने है।

आरबीआई के द्वारा 19 में 2023 को सर्कुलेशन में ₹2000 बैंकों में मौजूद इसका वैल्यू लगभग 3.56 लाख करोड़ रुपये था। जब आरबीआई के द्वारा अचानक से 19 में 2023 को 2000 नोट को लेकर बैंक नोटों को सर्कुलेशन वापस लेने के लिए घोषणा की थी। वहीं पर देखा जाए तो 31 जनवरी 2024 को 2000 के नोट बैंकों से वापस 97.7% तक आ चुके हैं। इसके अलावा यह भी बताया जा रहा है कि 8889 करोड रुपए अभी भी मार्केट में है।जिनको वापस लाना है, वैसे मैं बता दूं कि आरबीआई के द्वारा जो आरबीआई के 19 ऑफिशल ऑफिस है उसके माध्यम से आप 2000 के नोट को जमा या रिटर्न कर सकते हो। इसके अलावा आरबीआई ने यह भी सूचना दी है कि आप चाहो तो पोस्ट ऑफिस के माध्यम से भी उन्हें आरबीआई के ऑफिस तक भेज के एक्सचेंज कर सकते हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top