Smart Phone: फिंगरप्रिंट और फेस का पासवर्ड हुआ पुराना अब सांस लेना नया पासवर्ड बन सकता है

Smart Phone पासवर्ड को लेकर एक बड़ी अपडेट आ चुकी है जहां पर अब सांस लेना एक नया पासवर्ड बन सकता है।

जब आप सांस लेते हो उसे टाइम जो हलचल यानी की बायोमैट्रिक अथॉन्‍ट‍िकेशन मेथड के द्वारा पासवर्ड क्रिएट कर सकते हो।

Bharat के वैज्ञानिकों के द्वारा इस पर काम किया जा रहा है। जो व्यक्ति मर गया है तो उसका पासवर्ड जनरेट नहीं कर सकते है।

टेक्नोलॉजी सेक्टर में नए अपडेट किए जा रहे जहां पर अब Smart Phone में अब सांस लेना एक नया पासवर्ड बन सकता है जिस पर अभी रिसर्च चल रहा है।

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी ने रिसर्च किया है कि आने वाले टाइम पर आपका सांस लेना एक नया पासवर्ड बन सकता है।