Zero Rupee Note: क्या आपको पता है कि भारत में जीरो का नोट छप चुका है, विश्व बैंक ने दिया जानकारी

Zero Rupee Note: क्या आपको पता है कि भारत में जीरो का नोट छप चुका है, विश्व बैंक ने दिया जानकारी

Zero Rupee Note: क्या आपको पता है कि आरबीआई के द्वारा ₹1 से लेकर ₹10,000 नोट छप चुका है। लगभग 7 साल पहले 2016 में नोटबंदी किया गया था उसे टाइम 500 से लेकर 1000 के नोट को बन कर दिया गया था। और उस समय से पहले ही भारत में जीरो का नोट छप चुका था। जीरो नोट की शुरुआत 2007 में की गई थी यह आपको पता होना चाहिए और इसी चीज को इस आर्टिकल के अंदर हम डिटेल से डिस्कस करने वाले हैं।

READ MORE: Mutual Fund SIP के माध्यम से 2 हजार रुपये के निवेश पर 38 लाख तक का रिटर्न मिलता है जानिए कैसे??

Zero Rupee Note: जीरो नोट की बात करें तो

Zero Rupee Note: बता दें कि RBI के द्वारा ₹1 से लेकर ₹10,000 नोट तक छप चुका है। जीरो नोट की शुरुआत 2007 में की गई थी। वही पर देखे तो 2014 में इसको बंद कर दिया गया था। इसके बाद आपको पता ही है कि 2016 में नोटबंदी हुआ था उसे टाइम 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए गए थे और उससे पहले ही जीरो नोट को छप चुके था। इस नोट की कोई भी मूल्य नहीं है इसके अलावा जान लो कि आप इस चीज से कुछ भी नहीं खरीद सकते हो। ये जान लो इसको लगातार छप रहे है और दक्षिण भारत से लेकर उत्तर भारत तक और तो ओर इसके अलावा तो पूरे भारत में इसकी डिमांड लगातार बढ़ती ही जा रही है।

JOIN

Zero Rupee Note: आरबीआई के द्वारा ₹1 से लेकर ₹10,000 नोट छप चुका है। वैसे 10,000 के नोट को बंद कर दिया गया है। और 1000 के नोट मार्केट में आ चुके हैं। इसके अलावा आपको पता है यह की 2000 नोट को भी मार्केट से बैंकों के द्वारा वापस ले लिया गया है आरबीआई के कहने पर और उसके बदले में 1000 के नोट को मार्केट में डाला गया है। 2007 में चेन्नई के गैर सरकारी संगठन (NGO), और 5 पिलर (5th Pillar) के द्वारा शून्य रुपये का नोट छापा था। इस नोट की कोई भी मूल्य नहीं है इसके अलावा जान लो कि आप इस चीज से कुछ भी नहीं खरीद सकते हो। इस नोट को लेकर कोई भी भारत सरकार या रिजर्व बैंक के द्वारा गारंटी नहीं दिया गया है। इस नोट में जिस भाषा का उसे किया गया है जैसे की हिंदी, तमिल, कन्नड़, मलयालम के साथ तेलुगू का भी प्रयोग किया गया है।

Zero Rupee Note: आखिर में क्यों शून्य नोट को छपाई?

Zero Rupee Note: इस नोट को एक स्पेशल निर्देश के लिए छप गया है पहले देश में बहुत ज्यादा भ्रष्टाचार था और कोई भी आप सरकारी काम करने के लिए आपको घूस देना पड़ता था और इसी चीज के वजह से बोल सकते हो कि जीरो नोट को छप गया है ताकि उन्हें एक संदेश दिया जा सके। भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए या उन्हें संदेश देने के लिए 5 पिलर (5th Pillar) के द्वारा छप गया है। 2007 में चेन्नई के गैर सरकारी संगठन (NGO), और 5 पिलर (5th Pillar) के द्वारा शून्य रुपये का नोट छापा था। इस नोट की कोई भी मूल्य नहीं है इसके अलावा जान लो कि आप इस चीज से कुछ भी नहीं खरीद सकते हो। इस नोट को लेकर कोई भी भारत सरकार या रिजर्व बैंक के द्वारा गारंटी नहीं दिया गया है। इस नोट में जिस भाषा का उसे किया गया है जैसे की हिंदी, तमिल, कन्नड़, मलयालम के साथ तेलुगू का भी प्रयोग किया गया है। शून्य नोट को देखोगे तो ₹50 के पुराने नोट के रंग-बिरंगे जैसे आपको दिखाई देगा एवं जो वर्ल्ड बैंक है उनके द्वारा ट्वीट भी किया गया है आप नीचे देख सकते हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top